X

किसान दिवस कब मनाया जाता हैं | किसान दिवस कैसे मनाया जाता हैं

किसान दिवस कब मनाया जाता हैं | किसान दिवस कैसे मनाया जाता हैं |kisan divas kab manaya jata hai – हमारे देश की अर्थव्यवस्था मुख्यरूप से गाँवो में बसती हैं. गाव में आय का मुख्य स्त्रोत खेती हैं. गाँवो में लोग खेती करके अपने परिवार का पेट पालते हैं. लेकिन खेती करना इतना आसन नहीं क्योंकि खेती पूर्ण रूप से मौसम और बारिश पर निर्भर होती हैं. किसानो की समस्या को सुलझाने और उनके जीवन स्तर में सुधार करने के उद्देश्य से हमारे देश में प्रत्येक वर्ष किसान दिवस मनाया जाता हैं.

लेकिन आपको पता हैं की किसान दिवस या राष्ट्रिय किसान दिवस कब मनाया जाता हैं. और इस दिन का क्या महत्त्व हैं. तो इस आर्टिकल में हम जानेगे की किसान दिवस कब मनाया जाता हैं. तथा इसे कैसे मनाया जाता हैं.

किसान दिवस कब मनाया जाता हैं | kisan divas kab manaya jata hai

किसान दिवस हमारे देश में प्रत्येक वर्ष 23 दिसम्बर को मनाया जाता हैं.

किसान दिवस क्यों मनाया जाता हैं?

किसान दिवस पुरे भारत में 23 दिसम्बर को मनाया जाता हैं. किसान दिवस भारत के पांचवे प्रधानमंत्री के श्री चौधरी चरण सिंह के जन्म दिवस के दिन मनाया जाता हैं. उनका जन्म 23 दिसम्बर 1902 में हापुड़ में हुआ था.

उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री रहते हुए किसानो के हित में अनेक कार्य किये थे. तथा अनेक बिल किसानो के हित में संसद में पारित किये थे. इसलिए उनके जन्म दिन के अवसर पर प्रत्येक वर्ष राष्ट्रिय किसान दिवस या किसान दिवस पुरे भारत में मनाया जाता हैं.

योग किसे कहते हैं – आधुनिक युग में योग क्यों जरूरी हैं

राष्ट्रिय किसान दिवस का इतिहास क्या हैं?

चौधरी चरण सिंह का निधन 29 मई, 1987 को हुआ था. उनकी मृत्यु के पश्चात् भारत सरकार ने सन 2001 को 23 दिसम्बर के दिन प्रत्येक वर्ष किसान दिवस मनाने का फैसला लिया. चरण सिंह जुलाई, 1979 से लेकर जनवरी 1980 के बिच में भारत के प्रधानमंत्री रहे. तथा इस छोटी अवधि में उन्होंने किसानो के कल्याण और हित को लेकर अनेक किसान बिल पारित किये.

उन्होंने किसानो के हित में बिल बना कर देश में किसान और कृषि की स्थिति को मजबूत किया. उन्होंने कहा की “किसान हमारे देश की आर्थिक स्थिति के लिए रीढ़ की हड्डी हैं. तथा देश के विकास और समृध्दी के लिए किसानो के योगदान को नजरंदाज नहीं किया जा सकता हैं.” जिसके कारन किसानो के योगदान और जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए हमारी सरकार प्रत्येक वर्ष 23 दिसम्बर को सन 2001 के पश्चात् किसान दिवस के रूप में मनाया जाता हैं.

जीएसटी कब लागु किया गया था और उसकी तारीख क्या हैं

राष्ट्रिय किसान दिवस का महत्त्व क्या हैं?

भारत देश गाँवो में बसता हैं. हमारे देश की अधिकतर जनसंख्या गाँवो में रहती हैं. जहा पर रोजगार का मुख्य स्त्रोत खेती हैं. लोग अपने जीवन यापन के लिए खेती पर निर्भर हैं. इसके बावजूद हमारे देश के बहुत से लोग किसानो की समस्या से अनजान हैं. शहरो में रहने वाले लोग किसानो की समस्या से अनजान हैं. तथा जिसके कारन खेती में नवीनकरण होना संभव नहीं होता हैं.

विश्व व्यापार संगठन का मुख्यालय कहा हैं – सम्पूर्ण जानकारी

किसान दिवस के मौके पर शहरी लोगो और अन्य लोगो को किसानो की समस्याओ से अवगत कराया जाता हैं. जिससे वह लोग भी उनकी मदद विभिन्न स्तर पर कर सकते हैं. जिससे खेती में नए प्रयोग होते हैं. और तकनीक के साथ खेती करने से किसानो की समस्याए कम होती हैं.

किसान दिवस के मौके पर किसानो की समस्याओ और उनसे जुड़े मुद्दों पर विभिन्न स्थानों पर मंच, बहस, चर्चाए और प्रतियोगिता रखी जाती हैं. तथा उनके मुद्दों और समस्याओ का निष्कर्ष निकाला जाता हैं.

आल इंडिया रेडियो की स्थापना कब हुई थी – विविध भारती की शुरुआत

किसान दिवस पर क्या होता हैं?

खेती के क्षेत्र में विकास को सुनिश्चित करने के लिए इस दिन राज्य सरकारों के द्वारा विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं. जिसमे कृषि विशेषज्ञ और वैज्ञानिक भाग लेते हैं. इस दिन कार्यक्रमों में कृषि वैज्ञानिक गाँवो का दौरा करते हैं. तथा ग्रामीण किसानो की समस्या और बातो को सुनते हैं. तथा उनकी समस्या का हल ढूढने के लिए विचार विमर्श किया जाता हैं.

इसके साथ ही किसानो को सरकारी योजनाओ से अवगत कराया जाता हैं. सरकार किसानो तक अपनी योजनाए पहुचने के लिए अनेक सुचना कार्यक्रम आयोजित करती हैं. और जिसके अंतगर्त किसानो को सीधे तौर पर बात करके उनके हित की योजनाए बताई जाती हैं. इस प्रकार से किसान दिवस खेती के क्षेत्र में विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं.

पारस पत्थर क्या हैं | पारस पत्थर की पहचान क्या है

निष्कर्ष

इस आर्टिकल (किसान दिवस कब मनाया जाता हैं | किसान दिवस कैसे मनाया जाता हैं | kisan divas kab manaya jata hai) को लिखने का हमारा उद्देश्य आपको राष्ट्रिय किसान दिवस के बारे में विस्तार से जानकारी देना हैं. किसान दिवस हमारे देश में प्रत्येक वर्ष 23 दिसम्बर को मनाया जाता हैं. 23 दिसम्बर 1902 के दिन ही भारत के पांचवे प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह का जन्म हुआ था. जिन्होंने अपने कार्यकाल में किसानो के हित में अनेक योजनाए बनाई थी.

संविधान किसे कहते हैं | संविधान का अर्थ क्या हैं

चीन किस देश का गुलाम था | चीन का इतिहास

सिपाही विद्रोह कब हुआ था | सिपाही विद्रोह के कारण

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हैं. यह हमे तभी पता चलेगा जब आप हमे निचे कमेंट करके बताएगे. यह आर्टिकल विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओ की दृष्टी से भी महत्वपूर्ण हैं. इसलिए इस आर्टिकल को उन लोगो और दोस्तों तक पहुचाए जो प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. क्योंकि ज्ञान बाटने से हमेशा बढ़ता हैं. धन्यवाद.