Features of c language in hindi | C लैंग्वेज क्या है?

आपने C लैंग्वेज के बारे में जरुर सुना होगा. और हो सकता है आप ये लैंग्वेज को सीखना भी चाहते हो. ये आर्टिकल (features of c language in hindi) आपको C लैंग्वेज के बारे में विस्तार से जानकारी देगा. C लैंग्वेज को सभी प्रोग्राम लैंग्वेज की मदर लैंग्वेज कहा जाता है. क्योंकि ये एक पुरानी भाषा है.

किसी भी कंप्यूटर लैंग्वेज को सिखने के लिए आपको C लैंग्वेज का ज्ञान होना अनिवार्य है. क्योंकि ये सबसे बेसिक लैंग्वेज है. तथा ये आपको किसी भी कंप्यूटर लैंग्वेज को सिखने और समझने के लिए मदद करती है.

C लैंग्वेज क्या है? (What is C Language in Hindi)

C लैंग्वेज एक कंप्यूटर लैंग्वेज है. जिमसे कंप्यूटर के प्रोग्राम लिखे जाता है. तथा ये अत्यधिक लोकप्रिय कंप्यूटर लैंग्वेज है.

C लैंग्वेज general purpose कंप्यूटर लैंग्वेज है. जो काफी सरल और flexible होती है. C लैंग्वेज एक आधारभूत कंप्यूटर लैंग्वेज है. इसी कारन C लैंग्वेज को मदर लैंग्वेज भी कहा जाता है. जिससे कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम से लेकर जटिल प्रोग्राम जैसे Oracle database, Git, Python interpreter भी लिखे जाते है.

C लैंग्वेज कंप्यूटर प्रोग्राम की आधारशिला है. अगर आप ने एक बार C लैंग्वेज सिख लेते हो तो आप कंप्यूटर की किसी कंप्यूटर लैंग्वेज को आसानी से सिख सकते हो.

C लैंग्वेज का इतिहास (history of c language in hindi notes)

C प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को Dannies Ritchie के द्वारा सन 1972 में USA में स्थित AT&T (American Telephone & Telegraph) लैब में विकसित किया गया था.

Dannies Ritchie को C लैंग्वेज का पितामह भी कहा जाता है.

C लैंग्वेज को पुरानी कंप्यूटर की भाषाए जैसे B, BCPL इत्यादि की कमियों को दूर करने के लिए विकसित किया गया था. शुरुआत में C लैंग्वेज को UNIX ऑपरेटिंग सिस्टम में उपयोग करने के लिए विकसित किया गया था. तथा इसमें पुरानी कंप्यूटर की भाषाए जैसे B, BCPL के काफी सारे गुणों को लिया गया था.

Features of C language in hindi
Dannies Ritchie

Features of C language in hindi (C लैंग्वेज की विशेषताए)

C लैंग्वेज अत्यधिक लोकप्रिय और उपयोग में होने वाली भाषा है. जिसके पीछे इसमें मौजूद कुछ विशेषताए है. जिन्हें निचे बिन्दुओ में समझाया गया है.

सरल (Simple)

C लैंग्वेज एक आसान और सरल लैंग्वेज है. क्योंकि इसकी सरचना इस प्रकार से है कि प्रॉब्लम को विभिन्न भागो में बाटा गया है.

Features of C language in hindi

machine-independent or portable

C लैंग्वेज को किसी भी मशीन पर प्रयोग करना संभव है. इसके लिए इसके कोड में थोडा परिवर्तन करना होता है. इसलिए C लैंग्वेज को machine independent लैंग्वेज भी कहा जाता है.

Mid-level programming language

C लैंग्वेज में low level और high level प्रोग्रामिंग लैंग्वेज दोनों की विशेषताए मौजूद है. इसी कारन इसे सिस्टम सॉफ्टवेर बनाने के लिए और हाई परफॉरमेंस सॉफ्टवेर बनाने के लिए उपयोग लिया जाता है. इसी कारन इसे Mid-level programming language कहा जाता है.

Structured programming language

C लैंग्वेज की एक सरचना होती है. इसमें प्रोग्राम को छोटे छोटे भागो में बाटा जाता है. जिसे function (फंक्शन) कहा जाता है. जिससे प्रोग्राम और इसके कार्य को समझना आसान होता है. और फंक्शन के कोड का वापस से उपयोग भी लिया जा सकता है.

Rich Library

C लैंग्वेज में पहले से अंतर्निहित फंक्शन (inbuilt functions) है. जिसे प्रोग्रामर सीधे प्रयोग कर सकता है. ये प्रोग्राम बनाने के कार्य करना आसान और तेज हो जाता है.

Memory Management

इसमें dynamic memory allocation का फंक्शन होता है. ये allocated मैमोरी को फ्री कर देता है. इसके लिए C लैंग्वेज में free() फंक्शन होता है.

Speed

C लैंग्वेज में लिखे हुए प्रोग्राम बहुत तेज compile और run होने में बहुत कम समय लगता है.

Extensible

इसमें नए फंक्शन को जोड़ना संभव होता है. इसी कारन इसका विस्तार करना संभव है.

आपने क्या सिखा

इस आर्टिकल (features of c language in hindi) को लिखने का हमारा उद्देश्य आपको C लैंग्वेज और इसकी विशेषताओ के बारे में बताना है. C लैंग्वेज सभी कंप्यूटर लैंग्वेज की आधारशिला है. और अगर आपको कंप्यूटर विषय में रूचि है. और कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में अपना भविष्य बनाना चाहते है. तो आपको शुरुआत C लैंग्वेज से करनी चाहिए. कंप्यूटर प्रोग्रामिंग एक बड़ा क्षेत्र है. और भारत में कही सारी सॉफ्टवेर से जुड़े बड़ी कंपनी है. जो विदेशो से प्रोजेक्ट लेके आती है. जिससे इस क्षेत्र में रोजगार भी आसानी से मिल सकते है.

इस आर्टिकल (features of c language in hindi) में आपने C लैंग्वेज के बारे में बेसिक जानकारी के साथ इसकी विशेषताओ के बारे में विस्तार से जाना है. तथा हमने इस आर्टिकल में C लैंग्वेज के संक्षिप्त का भी वर्णन किया है.

Leave a Comment