Sri lanka kab swatantra hua tha | श्रीलंका का इतिहास

श्री लंका कब स्वंतत्र हुआ था | श्री लंका स्वन्त्रत राष्ट्र कब बना था | श्रीलंका कब आजाद हुआ – (sri lanka kab swatantra hua tha – sri lanka swatantra rashtra kab bana ) – भारत के अपने पड़ोसी देशों से सम्बन्ध हमेशा अच्छे रहे हैं. भारत के पड़ोसी देशों में श्री लंका एक महत्वपूर्ण देश हैं. श्री लंका चारों ओर से पानी में घिरा हुआ देश हैं. जो भारत के दक्षिण में स्थित हैं. इस आर्टिकल में हम आपको श्री लंका के बारे में विस्तार से जानकारी देने वाले हैं. इस आर्टिकल में हम आपको बताएगे की श्री लंका आजादी कब मिली थी. और श्री लंका का इतिहास क्या हैं.

sri-lanka-kab-swatantra-hua-swatantra-rashtra-kab-bana-tha

श्री लंका का आधिकारिक नाम श्रीलंका समाजवादी जनतांत्रिक गणराज्य हैं. यह देश एक द्वीपीय समूह हैं. जो हिन्द महासागर के उत्तरी भाग में स्थित हैं. श्री लंका की भारत से महज 31 किलोमीटर की दुरी हैं. सन 1972 में श्री लंका का नाम बदल कर सीलोन से लंका रख दिया गया था. और इसके पश्चात् सन 1978 में लंका नाम के आगे श्री लगा कर. श्री लंका नाम रख दिया गया था.

सबसे पुराना वेद कौन सा हैं – सबसे प्राचीन वेद कौन सा हैं

श्री लंका कब स्वंतत्र हुआ था | श्री लंका स्वन्त्रत राष्ट्र कब बना था | श्रीलंका कब आजाद हुआ – (sri lanka kab swatantra hua tha – sri lanka swatantra rashtra kab bana)

भारत की तरह श्री लंका पर भी अंग्रेजो का शासन था. बीसवी शताब्दी के आरम्भ से ही श्री लंका में आजादी के आन्दोलन की शुरूआत हो गई थी. जिसका नेतृत्व श्री लंका के शिक्षित लोगो ने किया. यह आन्दोलन इतिहास में एक शांतिपूर्ण राजनैतिक आन्दोलन माना जाता हैं. द्वितीय युद्ध के पश्चात ब्रिटिश राज ने श्री लंका को सन 4 जनवरी, 1948 में एक डोमिनियन राष्ट्र के रूप में स्वंत्रता दे दी. इसके बाद श्री लंका 24 वर्ष एक डोमिनियन राष्ट्र रहा. और अंत में सन 22 मई, 1972 को श्री लंका को गणतंत्र देश घोषित कर दिया गया.

श्री लंका का इतिहास

इस देश का लिखित में 5000 सालो का इतिहास उपलब्ध हैं. श्री लंका में 1,25,000 सालो पहले मानव बस्तिया होने के अवशेष भी मिलते हैं. पुराने समय से ही श्री लंका पर शाही सिंहल का शासन रहा हैं. भारत के दक्षित भाग से विभिन्न राजाओ ने समय समय पर श्री लंका पर आक्रमण किए थे. क्योंकि यह देश भारत के दक्षित भाग से बहुत समीप हैं. श्री लंका में बौध्द धर्म को लाने वाले भी भारत के मोर्य साम्राज्य के चक्रवती राजा अशोक के बेटे महेंद्र ही थे.

Ashok kis vansh ka shasak tha – चक्रवर्ती अशोक सम्राट

श्री लंका का सबसे बड़ा नगर कोलोम्बो हैं. यह शहर समुद्र के नजदीक होने के कारन व्यापार का मुख्य केंद्र रहा हैं. इसी कारन कोलोम्बो में महत्वपूर्ण बंदरगाह भी हैं. और इसी वजह से सोलहवी शताब्दी में यूरोपीय शक्तियों ने श्री लंका पर अपना व्यापार स्थापित किया. यह देश उस समय रबर, चाय, चीनी, कॉफ़ी, और दालचीनी जैसी वस्तुओ का मुख्य निर्यातक था. सबसे पहले पुर्तगाल ने कोलोम्बो पर अपना दुर्ग बनाया. फिर धीरे धीरे पुरे श्री लंका पर नियंत्रण ले लिया.

sri-lanka-kab-swatantra-hua-swatantra-rashtra-kab-bana-tha-1-compressed

सन1630 में डच ने श्री लंका में पुर्तगालियो पर हमला किया और पुर्तगालियो की सत्ता प्राप्त कर दी. लेकिन श्री लंका के लोग इन बाहरी हमलो और शासन से बहुत हतास थे. इसके पश्चात् अंग्रेजो की नजर श्री लंका पर पड़ी. और सन 1800 से अंग्रेजो ने डचो को श्री लंका से खदेड़ना शुरू किया.

sansadhan kise kahate hain – संसाधन कितने प्रकार के होते हैं

सन 1818 तक आते-आते श्री लंका के अंतिम राज्य केंडी के शासक ने भी अंग्रेजो के सामने आत्मसमर्पण कर लिया. अब पुरे देश पर अंग्रेजो का राज्य था. द्वितीय युद्ध के पश्चात ब्रिटिश राज ने श्री लंका को सन 4 जनवरी, 1948 में एक डोमिनियन राष्ट्र के रूप में स्वंत्रता दे दी. इसके बाद श्री लंका 24 वर्ष एक डोमिनियन राष्ट्र रहा.

श्री लंका का सामान्य ज्ञान

श्री लंका हिन्द महासागर के उत्तरी भाग में बसा एक ऐसा द्वीप समूह हैं. जिसके चारों ओर समुन्द्र ही हैं. क्षेत्रफल के आधार पर श्री लंका दुनिया का 120 वा सबसे बड़ा देश हैं. जिसका कुल क्षेत्रफल 65,610 वर्ग किलोमीटर हैं. यहा की आबादी 2 करोड़ और 25 लाख हैं. इस देश की अधिकारिक भाषा तमिल और सिंहासा हैं. तथा श्री लंका की राजधानी कोलम्बो हैं. कोलम्बो शहर श्री लंका का सबसे बड़ा शहर भी हैं.

भूगोल किसे कहते हैं? (bhugol kise kahate hain)

निष्कर्ष

इस आर्टिकल (श्री लंका कब स्वंतत्र हुआ था | श्री लंका स्वन्त्रत राष्ट्र कब बना था | श्रीलंका कब आजाद हुआ) को लिखने का हमारा उद्देश्य आपको श्री लंका और श्री लंका के स्वंत्रता के आन्दोलन के बारे में विस्तार से बताना हैं. भारत हमेशा अपने पड़ोसी देशों से अच्छे रिश्ते रखता हैं. जिसमे श्री लंका भी एक प्रमुख राष्ट्र हैं. भारत की तरह श्री लंका भी अंग्रेजो का गुलाम देश था. जिसे सन 4 जनवरी, 1948 के दिन अंग्रेजी झंझीरो से आजादी मिली थी.

Arthshastra ke lekhak kaun the – अर्थशास्त्र के लेखक

पृथ्वीराज चौहान की तलवार का वजन कितना था

आपको यह आर्टिकल (sri lanka kab swatantra hua tha – sri lanka swatantra rashtra kab bana) कैसा लगा हैं. यह हमे तभी पता चलेगा जब आप हमे निचे कमेंट करके बताएगे. यह आर्टिकल विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओ की दृष्टी से भी महत्वपूर्ण हैं. इसलिए इस आर्टिकल को उन लोगो और दोस्तों तक पहुचाए जो प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. क्योंकि ज्ञान बाटने से हमेशा बढ़ता हैं. धन्यवाद.

2 thoughts on “Sri lanka kab swatantra hua tha | श्रीलंका का इतिहास”

Leave a Comment

x