फुटबॉल खेल के नए नियम – फुटबॉल खेलने के नियम इन हिंदी

फुटबॉल खेल के नियम – फुटबॉल खेलने के नियम इन हिंदी – फुटबॉल खेल के नए नियम – फुटबॉल दुनियाभर में मशहूर खेल हैं. इसके साथ ही हमारे देश में भी लोग फुटबॉल खेल बड़ी तादाद में खेलते हैं. हम में से बहुत लोग फुटबॉल खेलते हैं. लेकन बहुत ही कम लोग फुटबॉल खेल के नियमों बारे में जानते हैं. इस आर्टिकल के जरिये हम आपको फुटबॉल खेल के नियमो को बताने वाले हैं.

अगर आप किसी प्रतिस्पर्धा परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. तो इस आर्टिकल में उपस्थित जानकारी आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं. अकसर सरकारी नौकरी की परीक्षा में खेलों के नियमों से सम्बन्धित प्रश्न पूछे जाते हैं.

football-khel-khelne-ke-nae-niyam-in-hindi
football-khel-khelne-ke-nae-niyam-in-hindi

फुटबॉल खेल के नियम / फुटबॉल खेलने के नियम इन हिंदी / फुटबॉल खेल के नए नियम

फुटबॉल मैच में विभिन्न नियमो का पालन किया जाता हैं. जो मैच में दोनों टीम को पालन करने होते हैं. ये नियम फुटबॉल के मैदान के माप से लेकर मैच में खिलाडियों की सख्या से सम्बन्धित होते हैं. फुटबॉल मैच में रेफ़री द्वारा निश्चित किया जाता है की प्रत्येक टीम और टीम के खिलाड़ी नियमो का पालन कर रहे हैं. अन्यथा खिलाड़ी और टीम दंड के पात्र होते हैं.

  • जिस पर फुटबॉल का मैच खेले जाना होता हैं. उस मैदान की लम्बाई 90-120 मीटर और चौड़ाई 45-90 मीटर होनी चाहिए.

फुटबॉल के मैदान माप कितना होता हैं?

  • मैदान के बीचों-बिच एक मध्यस्थ रेखा (center line) होनी अनिवार्य है. जो मैदान को दो बराबर भांगो में बाटती हो.
  • खिलाडियों की संख्या – फुटबॉल के मैच में प्रत्येक टीम में 11 खिलाड़ी होते हैं. जिसमे में से 10 खिलाड़ी मैदान में खेलते हैं. और 1 खिलाड़ी गोल कीपर होता हैं. जो सामने वाली टीम से गोल की रक्षा करता हैं.
  • फुटबॉल मैच के शुरुआत में प्रत्येक टीम में कम से कम 7 खिलाड़ी होने अनिवार्य हैं. अन्यथा कम खिलाड़ी वाली टीम को हारा हुआ माना जाता हैं.
  • मुख्य रेफ़री – प्रत्येक फुटबॉल के खेल के मैच में एक मुख्य रेफ़री होना अनिवार्य हैं. जिसकी जिम्मेदारी होती हैं की मैच में प्रत्येक नियम का सभी खिलाडियों के द्वारा पालन हो. और अगर कोई खिलाड़ी खेल में दुव्यवहार या नियम को तोड़ता है. तो उन खिलाड़ी को येल्लो कार्ड (Yellow  card) और रेड कार्ड (Red card) के जरिये दण्डित करे.
  • सहायक रेफ़री – मैदान में दो सहायक रेफ़री भी होते हैं. जो मैदान की सीमा से बहार खड़े रहते हैं. ये मुख्य रेफ़री को खेल के नियम बरकरार रखने के लिए सहायता करते हैं और गोल किक और कार्नर किक का ध्यान रखते हैं.
  • मैच का समय – प्रत्येक फुटबॉल का मैच 45 मिनट के दो भागों में समाप्त होता है. और दोनों 45 मिनट के भागों के बिच में 15 मिनट का खिलाडियों को आराम देना अनिवार्य हैं.
  • अगर पुरे 90 मिनट के बाद दोनों टीम समान अंक हासिल करती हैं. तो इस परिस्थिति में विजेता की घोषणा करना संभव नहीं है. ऐसी परिस्थिति में दोनों टीम 15 मिनट के अगले दो खेल के भाग खेलते हैं.

फुटबॉल का वजन कितना होता है? – FIFA के मानकों के अनुसार

  • अगर 30 मिनट के पश्चात् भी दोनों टीम समान स्थिति में होती है. तो मैच पेनल्टी शॉट-आउट (penalty shootouts) तक जाता हैं. और जो टीम ज्यादा पेनल्टी शॉट-आउट (penalty shootouts)करती है वो टीम जीत जाती हैं.
  • मैच के शुरुआत से पहले दोनों टीम के बिच में टॉस होता हैं. और जो टीम टॉस जीतती हैं. वह टीम निर्णय लेती हैं. की कौन पहले किक-ऑफ (kick-off) मारेगा. इस प्रकार से खेल की शुरुआत होती हैं.
  • किक-ऑफ – किक-ऑफ (kick-off) एक प्रक्रिया है. जिसे खेल और खेल के भाग को शुरू करने के लिए दोहराया जाता हैं. किक-ऑफ (kick-off) के दौरान सामने वाले टीम के खिलाड़ी गेंद से कम से कम 9.15 मीटर दुरी पर होने अनिवार्य हैं.
  • जब कोई खिलाड़ी हाथों से गेंद को अपने पेनल्टी एरिया स्पर्श करता है. तो इस स्थिति में खिलाड़ी को येलो कार्ड (yellow card) मिलता हैं.
  • जब कोई खिलाड़ी जान-बुझ कर अपने विरोधी टीम के किसी खिलाड़ी को धक्का या लात मारता है. तो इसे दुराचार माना जाता हैं. इसके लिए रिफेल खिलाड़ी पर दंड लगा सकता हैं. या उसके व्यवहार के लिए पीला या लाल कार्ड दे सकता हैं.
  • पीला और लाल कार्ड – पीला और लाल कार्ड क्या होता हैं. ये एक प्रकार के दंड है. जो रेफ़री के द्वारा दंड के रूप में खिलाडियों को दिए जाते हैं. पीला कार्ड मिलने पर खिलाड़ी को चेतवानी मिलती हैं लेकिन एक बार फिर से खेल में पदर्शन करने का मौका मिलता हैं. लेकिन लाल कार्ड में खिलाड़ी को खेल से बहार निकलना ही होता हैं.
  • ऑफसाइड नियम-ऑफ साइड नियम में आगे के प्लेयर बॉल के बिना बचाव करते हुए दूसरे प्लेयर के आगे नहीं जा सकते, खासकर विरोधी टीम की गोल रेखा के एकदम पास. अगर कोई खिलाड़ी ऐसा करे तो उसे फाउल माना जाता है.
  • फुटबॉल के विभिन्न किक और उसके नियम
  • इनडायरेक्ट फ्री किक

जब किसी खिलाड़ी से बिना किसी विशेष फ़ाउल के बॉल मैदान से बहार चली जाती हैं. तो खेल रेफरी के द्वारा रोक दिया जाता हैं. और सामने वाली टीम इनडायरेक्ट फ्री किक मिलता हैं.

  • गोल किक

जब बॉल पूरी तरह से गोल लाइन से किसी खिलाड़ी के द्वारा चली जाती है. इसमें गोल के बिना की स्कोर हो जाता हैं. इसे गोल किक कहा जाता हैं. तो इस स्थिति में सामने वाली टीम को एक किक मिलती है.

  • कॉर्नर किक

जब बॉल बिना गोल के ही गोल रेखा को पार कर जाती है और डिफेंस करने वाली टीम द्वारा बॉल को आखिरी बार छूने के कारण हमलावर टीम को मौका मिलता है.

फुटबॉल मैच कितने समय का होता हैं?

निष्कर्ष

इस आर्टिकल (फुटबॉल खेल के नियम / फुटबॉल खेलने के नियम इन हिंदी / फुटबॉल खेल के नए नियम ) को लिखने का हमारा उद्देश्य आपको फुटबॉल के नियमो के बारे में जानकारी देना हैं. फुटबॉल के ये नियम आप भी अपने स्कूल और कॉलेज के फुटबॉल के मैच में लागु कर सकते हैं. मैच में नियमो को लागु करने की पूरी जिम्मेदारी रेफरी की होती हैं. और इसके लिए रेफरी के पास कुछ अधिकार भी होते हैं.

आपको ये आर्टिकल कैसा लगा. ये हमे तभी पता चलेगा जब आप हमें निचे कमेंट करके बताएगे. इस ज्ञान को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक फैलाए. और ज्यादा लोगो तक इस ज्ञान को पहुचाए.

2 thoughts on “फुटबॉल खेल के नए नियम – फुटबॉल खेलने के नियम इन हिंदी”

Leave a Comment

x