hard disk kya hota hai (हार्ड डिस्क क्या है?)

हार्ड डिस्क क्या है? (Hard disk kya hota hai)

इस आर्टिकल hard disk kya hota hai में हम हार्ड डिस्क के बारे ने विस्तार से पढेगे. तथा ये भी जानेगे इसके फायदे और नुकसान क्या है. इसके साथ हम इस आर्टिकल में हार्ड डिस्क के विभिन्न प्रकारों के बारे में भी जानेगे.

हार्ड डिस्क क्या है?

(Hard disk kya hota hai)

हार्ड डिस्क को HDD भी कहते है. तथा इसका पूरा नाम हार्ड डिस्क ड्राइव है. हार्ड डिस्क इलेक्ट्रॉनिक मैग्नेटिक स्टोरेज उपकरण है. जिसका उपयोग डिजिटल जानकारी और डाटा को सुरक्षित रखने और समय पर वापस उपयोग में लाने के लिए किया जाता है. इसमें डाटा स्थाई रूप से संग्रहित रहते है. जिसे नॉन वोलेटाइल भी कहा जाता है. कंप्यूटर में बिजली का प्रवाह बंद होने के बावजूद भी इसमें डाटा सुरक्षित होता है.

हार्ड डिस्क उपकरण कंप्यूटर का भाग है. जिसे कंप्यूटर के अन्दर डिस्क कंट्रोलर के द्वारा मदरबोर्ड से जोड़ा जाता है. कंप्यूटर के हार्ड डिस्क में ऑपरेटिंग सिस्टम, विभिन्न एप्लीकेशन सॉफ्टवेर और यूजर द्वारा सुरक्षित जानकारिय होती है.

हार्ड डिस्क को सबसे पहले 1956 में IBM कंपनी के द्वारा बनाया गया था. इसके अन्य नाम फिक्स्ड डिस्क, हार्ड डिस्क और हार्ड ड्राइव है.

आज कल किसी भी कंप्यूटर में 1 TB जितनी हार्ड डिस्क का होना सामान्य है. लेकिन पहली बार जिस कंप्यूटर में हार्ड डिस्क को लगाया गया था. इसकी क्षमता सिर्फ 1 मेगाबाइट ही थी. डेस्कटॉप कंप्यूटर में एक्सटर्नल हार्ड डिस्क का उपयोग बेकअप और अतिरिक्त स्टोरेज के लिए किया जाता है.

हार्ड डिस्क के फायदे (Advantage of Hard disk)

हार्ड डिस्क के निम्नलिखित फायदे है.

  • हार्ड डिस्क की स्टोरेज क्षमता अच्छी होती है.
  • अन्य स्टोरेज उपकरण के मुकाबले इसकी लागत कम होती है.
  • ये ऑप्टिकल डिस्क के मुकाबले अधिक फ़ास्ट होती है.
  • ये आसानी से बाज़ार में उपलब्ध रहती है.

हार्ड डिस्क के नुकसान (Disadvantage of Hard disk)

  • इसकी स्पीड रैम मैमोरी से कम होती है.
  • ये आवाज़ उत्पन्न करती है.
  • हार्ड डिस्क अत्यधिक बिजली उपभोग करती है.
  • इसका आकार सामान क्षमता की SDD से अधिक होता है.

हार्ड डिस्क के प्रकार

हार्ड डिस्क को मुख्य रूप से चार भागो में बाटा गया है. जो इसप्रकार से है.

  • Parallel Advanced Technology Attachment (PATA)
  • Serial ATA (SATA)
  • Small Computer System Interface (SCSI)
  • Solid State Drives (SSD)

Parallel Advanced Technology Attachment (PATA)

ये पुराने प्रकार की हार्ड डिस्क है. जिसे सन 1986 में वेस्टर्न डिजिटल बेक कंपनी के द्वारा विकसित किया गया था. इस हार्ड डिस्क को मदरबोर्ड में कंप्यूटर से जोड़ने के लिए कॉमन ड्राइव इंटरफ़ेस का इस्तेमाल किया गया था. जिससे अन्य उपकरण भी मदरबोर्ड से सामान इंटरफ़ेस से जोड़ सकते है. इस प्रकार के हार्ड डिस्क की डाटा ट्रान्सफर की मात्रा 133 M/s है. और ज्यादा से ज्यादा दो हार्ड डिस्क को कंप्यूटर से जोड़ा जा सकता है.

डाटा के आवागमन के लिए 40 या 80 वायर रिबन केबल का इस्तेमाल होता था.

Serial ATA (SATA)

कंप्यूटर और लैपटॉप में PATA हार्ड डिस्क की जगह SATA हार्ड डिस्क ने आगे जाके लेली थी. क्योंकि SATA हार्ड डिस्क PATA हार्ड डिस्क से अधिक तेज होती है. लेकिन इसको भी कंप्यूटर से समान तरीके से ही जोड़ा जाता है. ये PATA से कम मात्रा में बिजली का खपत करता है.

Small Computer System Interface (SCSI)

ये हार्ड डिस्क PATA हार्ड डिस्क के जैसे ही होती है. लेकिन इसको कंप्यूटर से जोड़ने के लिए छोटा इंटरफ़ेस होता है. SCSI बाहरी और आंतरिक दोनों प्रकार के हार्ड डिस्क हो सकती है.

SCSI प्रकार की हार्ड डिस्क के फायदे निम्नलिखित है.

  • इसकी स्पीड बहुत फ़ास्ट होती है.
  • ये विश्वनीय होती है.
  • डाटा स्टोर करने की क्षमता अधिक होती है.
  • 24/7 उपयोग लेने के लिए कारगर होती है.

Solid State Drives (SSD)

ये हार्ड डिस्क की सबसे नविन तकनीक है. तथा ये बाकि सभी हार्ड डिस्क से कही अधिक तेज है. ये बाकि हार्ड डिस्क से बिल्कुल अगल है क्योंकि इसमें मूविंग पार्ट नहीं होता है. और डाटा को स्टोर करने के लिए फ़्लैश मैमोरी तकनीक का उपयोग होता है. इसमें डाटा को स्टोर करने  के लिए अर्धचालक और सर्किट बोर्ड का उपयोग होता है. और एक बार डाटा सुरक्षित होने के बाद जब तक उन्हें नहीं मिटाया जाता है. तब तक सुरक्षित रहता है.

आपने क्या सिखा

इस आर्टिकल hard disk kya hota hai  में आपने जाना है कि कंप्यूटर का एक महत्पूर्ण स्टोरेज उपकरण हार्ड डिस्क क्या होता है. तथा ये कितने प्रकार के होते है.

3 thoughts on “hard disk kya hota hai (हार्ड डिस्क क्या है?)”

Leave a Comment

x