himachal pradesh ko purn rajya ka darja kab mila

हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा कब मिला | हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा कब प्राप्त हुआ | himachal pradesh ko purn rajya ka darja kab mila – हिमाचल प्रदेश भारत का एक अग्रणी राज्य है. अपने निर्माण के बाद कुछ समय में ही हिमाचल प्रदेश ने शिक्षा, स्वास्थ्य, सडक और अन्य क्षेत्रो में अन्य संपन्न राज्यों से भी उच्च स्तर प्राप्त करके सबको अचंभित कर दिया है. हिमाचल प्रदेश भारत के उत्तर दक्षिण में स्थित बहुत ही सुन्दर पहाड़ी राज्य है. हिमाचल का इतिहास भी काफ़ी पुराना है. जो हिन्दू धर्म के प्रमुख ऋग्वेद में उल्लेखनीय है.

प्राचीन समय में हिमाचल प्रदेश पंजाब राज्य का हिस्सा होता था. लेकिन भारत सरकार ने एक कानून पारित करके हिमाचल के विकास और हितो को ध्यान में रखते हुए हिमाचल को एक पूर्ण राज्य का दर्जा दिया. लेकिन आपको पता की हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा कब प्राप्त हुआ था. तथा हिमाचल का इतिहास क्या है. तो इस आर्टिकल में हम हिमाचल प्रदेश के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेगे.

himachal-pradesh-ko-purn-rajya-ka-darja-kab-mila-diya-prapt-hua-1

हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा कब मिला |हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा कब प्राप्त हुआ | himachal pradesh ko purn rajya ka darja kab mila

25 जनवरी 1971 को हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया गया. तथा यह आजाद भारत का अठारवा राज्य बना था. इस दिन को हिमाचल प्रदेश की सरकार और जनता पूर्ण राज्यत्व दिवस के रूप में मनाती है.

तम्बाकू पर किस शासक ने प्रतिबन्ध लगाया था | तंबाकू का सेवन सर्वप्रथम किसने किया

हिमाचल प्रदेश की जानकारी

हिमाचल प्रदेश भारत के उत्तर दक्षिण में स्थित एक पहाड़ी राज्य है. इस राज्य के पूर्व में तिब्बत पहाड़, उत्तर में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख, पश्चिम और दक्षिण में पंजाब का पश्चिमी का भाग, दक्षिण-पूर्व में उत्तराखंड, दक्षिण में हरियाणा राज्य स्थित है. हिमाचल प्रदेश 56,019 वर्ग किलोमीटर से भी अधिक क्षेत्र में फैला हुआ है. हिमाचल प्रदेश शब्द का अर्थ “बर्फीली पहाड़ो के प्रान्त” से है. इस राज्य को देव भूमि भी कहा जाता है.

हिमाचल प्रदेश का संक्षिप्त इतिहास

कालान्तर में इस क्षेत्र में आर्यों का प्रभाव था. हिमाचल प्रदेश में आर्यों का प्रभाव ऋगवेद से भी अधिक पुराना है. हिमाचल प्रदेश सन 1857 तक महाराजा रणजीत सिंह के शासन के समय पंजाब के सिबा राज्य में आता था.  इसके पश्चात् आग्ल-गोरखा युद्द के बाद यह प्रदेश ब्रिटिश सरकार के अधीन आ गया. आजादी के बाद सन 1956 में हिमाचल प्रदेश को केंद्र शासित राज्य घोषित कर दिया गया.

माँ काली की घर में फोटो क्यों नहीं रखनी चाहिए | माँ काली को बुलाने का मंत्र

इसके बाद सन 1966 में पंजाब राज्य के पहाड़ी भागो को हिमाचल के अन्दर जोड़ा गया. इन पहाड़ी क्षेत्रो में कागड़ा, कुल्लू, शिमला, डलहौजी, लाहौल-स्पीती, नालागढ़-ऊना थे. जिससे हिमाचल प्रदेश का कुल क्षेत्रफल बढ़कर 55,673 हो गया.

18 दिसम्बर 1970 के दिन हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य घोषित करने के लिए भारत की संसद में हिमाचल प्रदेश अधिनियम 1971 पारित किया गया. इसके साथ ही 25 जनवरी 1971 को हिमाचल प्रदेश को भारत का अठारवा राज्य बनाया गया.

हिमाचल प्रदेश का भूगोल

हिमालय पर्वत के शिवालिक पहाड़ी श्रेणी का हिस्सा ही हिमाचल प्रदेश है. यहा से घग्गर नदी निकलती है. इस क्षेत्र से पांच नदिया बहती है. तथा इन नदियों के स्त्रोत बर्फीली पहाड़िया है. इन पांच नदियों में से चार नदियों का नाम का उल्लेख हमे ऋग्वेद में प्राप्त होता है. इन पांच नदियों के वर्तमान नाम ऋग्वेद के नाम से भिन्न है.

नेपोलियन के उदय को कैसे समझा जा सकता है | नेपोलियन बोनापार्ट इतिहास

himachal-pradesh-ko-purn-rajya-ka-darja-kab-mila-diya-prapt-hua-2

चिनाब नदी का अरिकरी, रावी नदी का पुरूष्णी, व्यास नदी का अरिजिकिया तथा सतलुज नदी का शतदुई नाम से ऋगवेद में उल्लेख प्राप्त होता है. पांचवी नदी कालिंदी का सम्बन्ध सूर्य देव की पौराणिक कथाओ में प्राप्त होता है.

हिमाचल प्रदेश में तिन ऋतुए ग्रीष्म, शरद और वर्षा ऋतू होती है. हिमाचल प्रदेश में मौसम की विविधता देखी जा सकती है. क्योकि हिमाचल प्रदेश पहाड़ी क्षेत्र है. कही पर भूमि की ऊचाई समुन्द्र ज्यादा है तो कही पर अधिक है. इसलिए किसी जगह पर ठंडी होती है तो उसी समय दूसरी जगह पर गर्मी होती है.

इस राज्य की 69 प्रतिशत जनता कृषि से सीधे रूप से जुड़ी हुई है. इसलिए कृषि हिमाचल प्रदेश का प्रमुख व्यवसाय है. कृषि और कृषि उत्पाद से प्राप्त आय राज्य की कुल आय का 22.1 प्रतिशत भाग है.

इटली का राष्ट्रिय एकीकरण कब हुआ था | इटली के एकीकरण की कहानी

निष्कर्ष

इस आर्टिकल (हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा कब मिला | हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा कब प्राप्त हुआ | himachal pradesh ko purn rajya ka darja kab mila ) को लिखने का हमारा उद्देश्य आपको हिमाचल प्रदेश के बारे में जानकारी देना है. हिमाचल प्रदेश का इतिहास प्राचीन काल से उपलब्ध है. और 25 जनवरी 1971 को हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया गया. तथा यह आजाद भारत का अठारवा राज्य बना था. हिमालय पर्वत के शिवालिक पहाड़ी श्रेणी का हिस्सा ही हिमाचल प्रदेश है. यहा से घग्गर नदी निकलती है.

भारत का सर्वोच्च न्यायालय कहाँ स्थित है | न्यायधीशो की संख्या

नाटो की स्थापना कब हुई थी | भारत नाटो का सदस्य क्यों नहीं बन पाया

Vidhayak kise kahate hain | विधायक के मुख्य कार्य व कर्तव्य क्या है

Samaj kise kahate hain | समाज की परिभाषा | समाज की विशेषताए

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हैं. यह हमे तभी पता चलेगा जब आप हमे निचे कमेंट करके बताएगे. यह आर्टिकल विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओ की दृष्टी से भी महत्वपूर्ण हैं. इसलिए इस आर्टिकल को उन लोगो और दोस्तों तक पहुचाए जो प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. क्योंकि ज्ञान बाटने से हमेशा बढ़ता हैं. धन्यवाद.

1 thought on “himachal pradesh ko purn rajya ka darja kab mila”

Leave a Comment

x