प्राचीन काल में भारत को क्या कहा जाता है / प्राचीन भारत का इतिहास के स्रोत

प्राचीन काल में भारत को क्या कहा जाता है / प्राचीन भारत का इतिहास के स्रोत – भारत का इतिहास काफी हजारो वर्ष पुराना हैं. आज के समय में भारत को भारत, इंडिया या हिंदुस्तान कहा जाता हैं. लेकिन आपने कभी सोचा है. वर्तमान में हम जिसे भारत के नाम से जानते है. इसका प्राचीन काल में क्या नाम था.

Prachin-kal-me-bharat-ko-kya-kha-jata-h-itihas-ke-strot (2)

इसके बारे में शायद ही किसी को पता होगा. यह सवाल काफी सारे एक्जाम में भी पूछा जाता हैं. अगर आप भी प्राचीन काल में भारत का क्या नाम था जानना चाहते है. तो हमारा यह आर्टिकल अंत तक जरुर पढ़े.

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है की प्राचीन काल में भारत को क्या कहा जाता है तथा प्राचीन इतिहास कब से कब तक है. इसके अलावा प्राचीन भारत का इतिहास तथा प्राचीन भारत का इतिहास के स्रोत भी बताने वाले हैं.

तो आइये हम आपको इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं.

प्राचीन काल में भारत को क्या कहा जाता है

प्राचीन काल में भारत को विभिन्न नामो से जाना जाता था. जैसे की प्राचीनकाल में भारत के भारतखंड, अजनाभवर्ष, आर्यावर्त, जम्बूद्वीप, हिमवर्ष, भारतवर्ष, इंडिया, हिंदुस्तान आदि नाम रह चुके हैं.

प्राचीन काल में दिशाओं कापता कैसे लगाया जाता था – सम्पूर्ण जानकारी

प्राचीन भारत का इतिहास / प्राचीन भारतीय इतिहास का महत्व

प्राचीन भारत का इतिहास और महत्व हमने नीचे बताए है.

  • भारत का इतिहास देखा जाए. तो सबसे पहले पाषाण युग की शुरुआत हुई थी. पाषाण युग 5 से 2 लाख वर्ष पहले शुरू हुआ था.
  • इसके पश्चात कांस्य युग की शुरुआत सिंधु घाटी सभ्यता के साथ 3300 ई.सा पूर्व हुई थी. इस युग के लोगो ने धातु विज्ञान तथा हस्तकला शिल्प का विकास किया. तथा तांबा, टिन, पीतल, सीसा आदि का विकास भी किया.
  • इसके पश्चात वैदिक काल की शुरुआत 1500 ई.सा पूर्व हुई. इस युग में आर्य ने पहले बार भारत पर हमला किया.
  • इसके पश्चात मौर्य साम्राज्य की शुरुआत 322 से 125 ई.सा पूर्व हुई. इनके पास काफी सारी सेना थी. चन्द्रगुप्त मौर्य इसी युग के थे.
  • इसके पश्चात मध्कालीन भारत में मुगल साम्राज्य की शुरुआत हुई. मुगल साम्राज्य सन 1600 से 1857 तक रहा. सन 1857 में मुगल साम्राज्य समाप्त हो गया.
  • इसके पश्चात आधुनिक भारतीय में उपनिवेशी काल, ब्रिटिश राज, मंगल पांडे, नाना साहिब, रानी लक्ष्मी बाई आदि का युग रहा.
  • प्राचीन भारत में द्रविड तथा तमिल भाषा का उपयोग अधिक होता था. क्योकि इस भाषा के शब्द वैदिक ग्रंथो में मिलते हैं.
  • इसी प्रकार प्राचीन भारत में पाली भाषा तथा संस्कृत भाषा के शब्द भी तमिल ग्रंथो में मिलते हैं.

Prachin-kal-me-bharat-ko-kya-kha-jata-h-itihas-ke-strot (3)

सबसे पुराना वेद कौन सा हैं – सबसे प्राचीन वेद कौन सा हैं – (sabse purana ved kaun sa hai – sabse prachin ved kaun sa hai)

प्राचीन भारत का इतिहास के स्रोत

हिंदू धर्म विश्व का सबसे प्राचीन धर्म माना जाता हैं. भारत के प्राचीन इतिहास के बारे में अनेक पुस्तक, महाकाव्य तथा ग्रंथो की रचना की गई. जिसमे प्राचीन भारत का पूरा इतिहास बताया गया हैं. इसके अलावा वेद, उपनिषद, रामायण, महाभारत, पुराण आदि में भी प्राचीन भारत के बारे में बताया गया हैं. ऋग्वेद सबसे प्राचीन ग्रंथ है.

महाभारत किसने लिखा था – महाभारत के लेखक और रचियता

इन सभी ग्रंथो तथा पुराणों में भारत की संस्कृति, सामाजिक व्यवस्था, राजव्यवस्था, धर्म आदि के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी मिलती हैं. यही हमारे प्राचीन भारत के इतिहास का स्त्रोत हैं.

Prachin-kal-me-bharat-ko-kya-kha-jata-h-itihas-ke-strot (1)

प्राचीन इतिहास कब से कब तक है

प्राचीन भारत के इतिहास की शुरुआत 13000 ई.सा पूर्व से हुई थी. तथा आधुनिक भारत की शुरुआत 1850 ईसवी के बाद  हुई.

हड़प्पा किस नदी के किनारे स्थित हैं | harappa kis nadi ke kinare sthit hai | हड़प्पा सभ्यता की खोज कब हुई थी – रावी नदी का प्राचीन नाम

निष्कर्ष

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया की प्राचीन काल में भारत को क्या कहा जाता है तथा प्राचीन इतिहास कब से कब तक है. इसके अलावा प्राचीन भारत का इतिहास तथा प्राचीन भारत का इतिहास के स्रोत भी बताए हैं. हम उम्मीद करते है की आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा. अगर उपयोगी साबित हुआ है. तो आगे जरुर शेयर करे.

दोस्तों हम आशा करते है की आपको हमारा यह प्राचीन काल में भारत को क्या कहा जाता है / प्राचीन भारत का इतिहास के स्रोत आर्टिकल अच्छा लगा होगा. धन्यवाद

सिन्धु सभ्यता के लोग सोना कहाँ (स्थान) से प्राप्त करते थे /हड़प्पा वासी सोना कहां से प्राप्त करते थे

सिक्किम की भाषा क्या है | सिक्किम के बारे में जानकारी | सिक्किम का संक्षिप्त इतिहास 

आर्य समाज की स्थापना किसने और कब की थी | आर्य समाज के 10 नियम क्या है

1 thought on “प्राचीन काल में भारत को क्या कहा जाता है / प्राचीन भारत का इतिहास के स्रोत”

Leave a Comment

x