सबसे कठोर धातु कौनसी हैं | हीरा कैसे बनता है

सबसे कठोर धातु कौनसी हैं | sabse kathor dhatu kaun si hain | हीरा कैसे बनता है – हमारी दुनिया में विभिन्न प्रकार के धातुएं पाई जाती हैं. जिनका उपयोग हम दैनिक जीवन में अनेक कार्य करने के लिए करते हैं. कुछ धातु हल्की होती हैं और कुछ धातु भारी होते हैं. धातुओं का उपयोग उनके रासायनिक और भौतिक गुण को ध्यान में रखकर किया जाता है. लेकिन आपको पता है कि सबसे कठोर धातु कौन सी है. तो इस आर्टिकल में हम आपको सबसे कठोर धातु के बारे में बताएंगे. और आपको बताएंगे कि सबसे कठोर धातु क्यों सबसे कठोर होती हैं.

sabse-kathor-dhatu-kaun-si-hain-hira-kaise-banta-1

सबसे कठोर धातु कौनसी हैं?

सबसे कठोर धातु हीरा होता हैं. क्योंकि इसमें प्रत्येक अणु के इलेक्ट्रॉन आपस में शक्तिशाली सह-संयोजी बल से बंधे होते हैं.

हीरा क्या होता हैं | हीरा क्यों सबसे कठोर होता हैं | sabse kathor dhatu kaun si hain

हीरा कार्बन का सबसे शुद्ध रूप होता है. यह एक पारदर्शी रत्न है. एक हीरे के प्रत्येक कार्बन परमाणु चार दूसरे कार्बन परमाणु के साथ में शक्तिशाली सहसंयोजक बंधन से जुड़े होते हैं. इस प्रकार हीरे में सभी कार्बन परमाणु आपस में बहुत शक्तिशाली सह-संयोजी बंधन से जुड़े होते हैं. इसी कारण हीरे को सभी धातुओं में कठोर धातु माना जाता है.

आल इंडिया रेडियो की स्थापना कब हुई थी – विविध भारती की शुरुआत

कार्बन के परमाणु के बाहरी कक्ष में उपस्थित सभी इलेक्ट्रॉन संयोजी बंधन में भाग लेते हैं. जिसके कारण कोई भी इलेक्ट्रॉन स्वतंत्र रूप में उपस्थित नहीं रहता है. इसी वजह से हीरा ऊष्मा और विद्युत का कुचालन होता है. और इसी वजह से हीरा सभी धातुओं में सबसे कठोर धातु माना जाता है.

इसकी कठोरता के कारण ही इसका उपयोग विभिन्न उधोगो और आभूषण को बनाने में किया जाता है. हीरा विभिन्न रंग में उपलब्ध होता है. यह पीला, नीला, लाल, संतरा काला, और हरे रंग के होते हैं. हरे रंग का हीरा सबसे दुर्लभ हीरा होता है. जिन्हें प्राप्त करना मुश्कित होता हैं.

बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री कौन थे | श्रीकृष्ण सिंह का जीवन परिचय

हीरे का रासायनिक गुण

अगर किसी हीरे को भट्टी में 765 डिग्री सेल्सियस ताप पर गर्म किया जाता है. तो हीरा जलकर कार्बनडाइऑक्साइड बना देता है. इस प्रक्रिया में बिल्कुल भी राख नहीं बचती है. अतः इस प्रक्रिया से पता चलता है कि हीरा कार्बन का शुद्ध रूप होता है. एक सफेद रंग के हीरे में कार्बन के अलावा कोई और अशुद्धि नहीं होती है. अगर हीरा सफेद रंग के अलावा अन्य रंग में उपस्थित हैं. तो इसमें अशुद्धि होने की संभावना रहती है. हीरा सामान्यत सभी घोलनो में घुलनशील है. और रासायनिक रूप से निष्क्रिय पदार्थ है. इसका आपेक्षिक घनत्व 3.51 होता है.

प्रयाग प्रशस्ति की रचना किसने की थी | प्रयाग प्रशस्ति क्या है

हीरे का उपयोग

हीरे को उसके भौतिक गुण के कारण आभूषणों और जवाहरत बनाने में मुख्य रूप से उपयोग में लिया जाता है. क्योंकि हीरा एक बहुत अधिक चमकदार धातु होता है. इसके साथ ही हीरे को अति शुध्द थर्मामीटर बनाने में भी उपयोग किया जाता है. क्योंकि हीरा उष्मीय किरणों के प्रति अधिक संवेदनशील होता है.

sabse-kathor-dhatu-kaun-si-hain-hira-kaise-banta-2

हीरे को अपने कठोरता के गुण के कारण कांच को काटने में भी उपयोग में किया जाता है. इसके साथ ही चट्टानों में छेद करने और दूसरे हीरे को काटने के लिए हीरो का मुख्य रूप से उपयोग किया जाता है. कलिनन हीरा दुनिया का सबसे बड़ा हीरा है. जो 3106 कैरेट का है. यह हीरा इस समय ब्रिटिश के राजघरानों के शाही संग्रहालय का हिस्सा हैं. तथा इस हीरे का पता दक्षिणी अफ्रिका में 1905 में लगाया गया था.

पुराणों की संख्या कितनी हैं | पुराण क्या हैं

हीरा कैसे बनता है?

हीरा जमीन के अंदर पाया जाते हैं. तथा यह पत्थर के रूप में प्राप्त होते हैं. जिसे विशेष कारीगरों के द्वारा घिसा जाता है. और एक चमकदार हीरे का रूप दिया जाता है. वैज्ञानिकों के अनुसार हीरा जमीन के अंदर लगभग 160 किलोमीटर की गहराई में दबे रहते हैं. तथा यह जमीन के अंदर गर्मी और दबाव के कारण बनते हैं.

पारस पत्थर क्या हैं | पारस पत्थर की पहचान क्या है

जमीन की गहराइयों में अत्यधिक दबाव और तापमान के कारण पत्थर के कार्बन अणु अनोखे ढंग से आपस में जोड़ते हैं. और एक विशेष प्रकार के दुर्लभ पत्थर का निर्माण करते हैं. जो ज्वालामुखी गतिविधियों के द्वारा ऊपर लाए जाते हैं. और जिन्हें विभिन्न प्रकार की खुदाई और खनन कार्यों में प्राप्त किया जाता है. और बाद में विशेषज्ञो तथा हीरा कारीगरों के द्वारा कई महीनों तक घिसा जाता है. इस प्रकार से एक बहुमूल्य हीरे का रूप दिया जाता है.

श्रवण कुमार के माता पिता का नाम क्या था | श्रवण कुमार की कहानी

निष्कर्ष

इस आर्टिकल (सबसे कठोर धातु कौनसी हैं | sabse kathor dhatu kaun si hain | हीरा कैसे बनता है) को लिखने का हमारा उद्देश्य आपको दुनिया के सबसे कठोर धातु के बारे में बताना हैं. दुनिया का सबसे कठोर धातु हीरा होता हैं. क्योंकि इसमें प्रत्येक अणु के इलेक्ट्रॉन आपस में शक्तिशाली सह-संयोजी बल से बंधे होते हैं. हीरे के प्रत्येक कार्बन अणु के चारो और अन्य चार अणु होते हैं. जो आपस शक्तिशाली सह-संयोजी से बंधे होते हैं. इस प्रकार से एक कठोर सरचना का निर्माण करते हैं.

महाभारत किसने लिखा था – महाभारत के लेखक और रचियता

कृष्ण किस जाति के थे – वासुदेव किस जाति के थे

हनुमान चालीसा का पाठ करने के नियम और विधि

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हैं. यह हमे तभी पता चलेगा जब आप हमे निचे कमेंट करके बताएगे. यह आर्टिकल विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओ की दृष्टी से भी महत्वपूर्ण हैं. इसलिए इस आर्टिकल को उन लोगो और दोस्तों तक पहुचाए जो प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. क्योंकि ज्ञान बाटने से हमेशा बढ़ता हैं. धन्यवाद.

2 thoughts on “सबसे कठोर धातु कौनसी हैं | हीरा कैसे बनता है”

Leave a Comment

x