What is server in Hindi? ये कितने प्रकार के होते है?

सर्वर क्या होता है? (What is server in Hindi?)

दोस्तों इस आर्टिकल में हम आपको जानकारी देने वाले है सर्वर और इसके प्रकार (What is server in Hindi?)”)के बारे में. हमने पूरी कोशिश की है कि आपको सरल से सरल भाषा में आर्टिकल सर्वर क्या होता है? (What is server in Hindi?)“में जानकारी मुहैया कराए.

आपने जरुरत ये वाक्य कही ना कही सुना होगा की “सर्वर डाउन चल रहा है?” तो आखिर कर ये सर्वर होता क्या है. और सर्वर कहा पर रखा होता है? सर्वर डाउन चल रहा है तो इसका मतलब क्या होता है.

What is server in Hindi?
SERVER

सर्वर क्या होता है? (What is server in Hindi?)

सर्वर एक विशाल और सक्षम कंप्यूटर है जो अपने नेटवर्क में जुड़े हुए बाकि सभी कंप्यूटर को विभिन्न सेवाएँ जैसे साधन उपयोग करने, डाटा स्टोर करने, और प्रोग्राम को चलाने जैसी सुविधा देता है. 

नेटवर्क में जुड़े हुए कंप्यूटर जो सेवा को देते है उन्हें सर्वर कहते है. और जो कंप्यूटर सेवाओं को ग्रहण करते है उन्हें क्लाइंट कहा जाता है.

एक सर्वर अपने नेटवर्क में अपने से जुड़े दूसरे कंप्यूटर ये सभी सुविधा दे सकता है.

  • सर्वर अपने क्लाइंट को संसाधन जैसे की प्रिंटर और सॉफ्टवेयर उपयोग करने के लिये देता है.
  • सर्वर अपने क्लाइंट को डाटा को संग्रहित और सुरक्षा की सेवा देता है.
  • सर्वर अपने क्लाइंट को एप्लीकेशन रन करने की सुविधा देता है.
  • सर्वर अपने क्लाइंट के नेटवर्क की निगरानी रखता है.
  • सर्वर अपने क्लाइंट को मेल की सुविधा देता है. 

सर्वर की जरूरत क्यों होती है?

जैसे आप हमारी वेबसाइट देख रहे है. ये किसी सर्वर पर रखी हुई है. क्योंकि इस वेबसाइट को चलाना के लिये बहुत से संसाधनों की जरूरत होती है. जैसे डाटा संग्रहण, डोमेन नाम, डाटा सुरक्षा इत्यादि. जो हमारे पास इस वक्त मौजूद नही है. तो हमने किसी वेबसाइट होस्टिंग को ये काम दे रखा है.

वेबसाइट होस्टिंग कंपनी वो कंपनी होती है जो अपने पास बड़े बड़े डाटा के स्टोर बना के रखती है. और डाटा के रखरखाव और सुरक्षा की सुविधा देती है. एक हिसाब से कह सकते है कि ये कंपनी अपने संसाधन को किराये पर देती है.

गूगल और फेसबुक जैसी बड़ी कंपनी के पास अपने खुद के डाटा केंद्र है. क्योंकि उनका व्यवसाय और आय अधिक है. ऐसी कम्पनी के पूरी दुनिया में एक से अधिक सर्वर होते है. जो सर्वर अपने क्लाइंट के नज़दीक होता है. वो सर्वर उस क्लाइंट को सेवाएँ देता है.

जिससे किसी एक सर्वर पर काम का बोझ कम हो जाता है. और साथ में अगर मैं भारत में बैठा हुआ हुं. और भारत से ही गूगल में कुछ सर्च करता हु. तो वो रिक्वेस्ट अमेरिका में रखे सर्वर तक जाने. रिक्वेस्ट के आधार पर सर्वर का रेस्पोंसे लाने में समय लेगी. ये समय भारत में ही लगे सर्वर से लाने में कम लगेगा.

इस प्रकार के सर्वर को डिस्ट्रीब्यूटर सर्वर कहते है.

नेटवर्क में जुड़े प्रत्येक कंप्यूटर या वेबसाइट के पास अपना एक अदित्य पहचान नंबर होता है. जो कंप्यूटर या वेबसाइट की पहचान कराता है. इसे वेबसाइट के लिये डोमेन नाम और कंप्यूटर के लिये आईपी एड्रेस नाम से जाना जाता है.

सर्वर कैसे काम करता है? (How does the server work  in hindi)

प्रत्येक सर्वर के अपने क्लाइंट होते है. जब आप कोई यूआरएल (url) ब्राउज़र में खोलते हो. तो उस यूआरएल की रिक्वेस्ट HTTP सर्वर पर जाती है. HTTP सर्वर www वेबसाइट को सूचना का आदान प्रदान करने का कार्य करता है.

जब भी कभी आप कोई वेबसाइट या यूआरएल खोलते हो. तो HTTP सर्वर को आपके वेब ब्राउज़र से एक रिक्वेस्ट जाती है. जिसमे उस वेबसाइट के यूआरएल खोलने का निवेदन होता है.   

प्रत्येक सर्वर का एक ऑपरेटिंग सिस्टम भी होता है. ये ऑपरेटिंग सिस्टम निर्णय लेता है कि सर्वर को प्राप्त रिक्वेस्ट वैध है या नही है. ये भी परखता है कि रिक्वेस्ट कौन से कंप्यूटर से आई है. उसका आईपी एड्रेस की सिध्द्ता होती है. और ये भी देखा जाता है कि रिक्वेस्ट में जिस डाटा को माँगा गया है. उस डाटा को देने की इजाज़त है या नही.

अगर सब कुछ ठीक होता है. तो सर्वर रिक्वेस्ट के बदले में रेस्पोंस भेजता है. जिसमे डाटा या इनफार्मेशन भरा होता है. ये डाटा या इनफार्मेशन उपयोगकर्ता को वेबपेज के रुप में दीखता है.  

तो अब मुझे विश्वास है कि आपको समझ में ज़रुर आया होगा. किस प्रकार से कोई भी सर्वर काम करता है.

सर्वर कितने प्रकार के होते है? (What are the types of server in hindi)

अपने कार्य करने की क्षमता और सेवाओं के हिसाब से सर्वर को विभिन्न भांगो से बाटा गया है. जो इस प्रकार है:

फाइल सर्वर (What is File Server in Hindi)

फाइल सर्वर वो सर्वर होते है जो फाइल को संग्रहित करता है. और जरूरत पड़ने पर फाइल को सहज मुहैया कराता है.

इस सर्वर के द्वारा एक ही समय में एक ही फाइल को एक से ज्यादा उपयोगकर्ता काम कर सकते है. इसके साथ ही ये सर्वर फाइल की सुरक्षा और सुधार के लिये जिम्मेदार होते है.

कही बड़ी संस्थानों में सारी फाइल को एक सर्वर पर रख दी जाती है. जिसका ऑफ़िस के सारे कर्मचारियों को खोलने की इजाजत होती है. जैसे कंपनी की छुट्टी की पॉलिसी या दुर्घटना पॉलिसी. कोई भी कर्मचारी उसको पढ़ सकता है. इसके अतिरिक्त किसी विशेष फोल्डर का विशेष लोगो के पास मान्यता होती है.

फाइल सर्वर का ऑपरेटिंग सिस्टम निर्णय लेता है कि किस उपयोगकर्ता को कितनी मान्यता है.

प्रिंट सर्वर (What is Print Server in Hindi)

प्रिंट सर्वर वो सर्वर है जो किसी संस्थान में उपलब्ध प्रिंटिंग मशीनों के उपयोग और सुरक्षा का प्रबंध करता है. प्रिंट सर्वर के उपयोग से प्रत्येक कंप्यूटर के लिये समर्पित प्रिंटिंग मशीन लगाने की जरूरत नही होती है. एक केन्द्रीय सर्वर होता है. कहा पर सारे प्रिंटिंग मशीनें जुड़ी हुई होती है. और जब कभी किसी भी कंप्यूटर से कोई प्रिंट की रिक्वेस्ट आती है.

प्रिंट सर्वर पर लगा ऑपरेटिंग सिस्टम निर्णय लेता है कि रिक्वेस्ट वैध है या नही और उसी के अनुसार आगे प्रिंटिंग मशीन को प्रिंट देने का आदेश देता है.

ये सर्वर आज कल बड़े पैनामे में बड़ी संस्थानों में उपयोग होता है. जहा पर कंप्यूटर की सख्या ज्यादा होती है.  और वहा पर किसी भी कंप्यूटर से प्रिंट की रिक्वेस्ट भेजी जा सकती है.  

एप्लीकेशन सर्वर (What is Application server in Hindi)

एप्लीकेशन सर्वर वो सर्वर है जो एप्लीकेशन (सॉफ्टवेयर) को एक केंद्रीय स्तर पर चलाता है. कही ऐसी एप्लीकेशन होती है. जैसे की मौसम की पूर्वामन की जानकारी लेने के लिये हमे कही करोड़ो डाटा को प्रोसेस की जरूरत होती है. इस के लिये ये एप्लीकेशन एक केंद्रीय स्तर पर चलती है.

जिससे प्रत्येक कंप्यूटर में इतने डाटा को संग्रहित करने और सुरक्षित करने की जरूरत नही होती है. इसके साथ ही प्रत्येक कंप्यूटर की कार्य क्षमता भी बढ़ाने की जरूरत नही होती है. जिससे लागत को कम किया जा सकता है.

DNS सर्वर (What is DNS server in Hindi)

DNS सर्वर का फुल फॉर्म डोमेन नाम सर्वर होता है. इन्टरनेट पर उपलब्ध प्रत्येक वेबसाइट का एक डोमेन नाम होता है. और वो नाम सबसे अलग होता है. वास्तव में ये वेबसाइट का आईपी एड्रेस ही है.

लेकिन आईपी एड्रेस को इन्सान आसानी से याद नही रख सकता. इसी कारण डोमेन नाम का जन्म हुआ है. जब आप कभी कोई वेबसाइट खोलते हो तो आप उसके डोमेन नाम से url को खोलते हो.

इस डोमेन नाम की रिक्वेस्ट डोमेन सर्वर पर जाती है. डोमेन सर्वर अपने डाटा टेबल में जा के इस डोमेन नाम के अनुसार एक आईपी एड्रेस बनाता है. जिसका उपयोग मशीन वेबसाइट के पहचान के लिये करती है.

कभी भी किसी दो वेबसाइट के डोमेन नाम एक जैसे नही हो सकते है.  

मेल सर्वर (What is Mail server in Hindi)

मेल का उपयोग हम सभी करते है. ये मेल मेल सर्वर की मदद से ही काम करते है. जब भी आप कोई मेल भेजते हो तो मेल सर्वर को एक रिक्वेस्ट जाती है. मेल सर्वर इस रिक्वेस्ट को आगे भेजता है. उसी प्रकार जब भी आपको कोई मेल मिलता है. तो वो मेल सर्वर के द्वारा आपको प्राप्त होती है.

मेल सर्वर में ही आने जाने वाले सभी मेल संग्रहित होते है. जिसे आप जरूरत पड़ने पर उपयोग कर सकते हो. जिससे प्रत्येक कंप्यूटर में डाटा को संग्रहित करने की जरूरत नही होती है.

वेब सर्वर (What is Web server in Hindi)

आप ये वेबसाइट वेब सर्वर के मदद से ही पढ़ रहे हो. जब भी आप अपने ब्राउज़र से किसी शब्द को खोजते हो तो उस शब्द से मिलते वेबसाइट के विकल्प आपको मिलते है.

आप उन में से किसी एक को आप अपने ब्राउज़र में खोलते हो. और उस शब्द के बारे में आपको जानकारी मिलती है. ये जानकारी वास्तव में वेब सर्वर पर पड़ी होती है. जो वेबसाइट को डाटा संग्रहित करने की सुविधा देता है.

इसके साथ ही वेबसाइट के अच्छे प्रदर्शन के लिये वेब सर्वर पर निर्भरता होती है. Apache web server, Microsoft Internet Information Services (IIS) server, and Nginx server इसके उदाहरण है.

डाटाबेस सर्वर (What is Database server in hindi)

डाटाबेस सर्वर वो सर्वर है जो डाटा को संग्रहित और सुरक्षित रखते है. हम जो भी काम कंप्यूटर में करते है. वो डाटा ही है. चाहे वो तस्वीरे, वीडियो या दस्तावेज हो. कितना डाटा रोज़ बन रहा है. क्योंकि हर कोई कुछ ना कुछ काम कंप्यूटर पर कर रहा है.

बड़ी संस्थान जहा पर हजारों लोग काम करते है. इन हजारों लोगो के द्वारा बनाए गए डाटा को संग्रहित करना बहुत मुश्किल होता है. साथ ही ये भी ध्यान रखना होता है की डाटा को सुरक्षित रखा जाए और समय पर काम भी आए.

इन सारी समस्याओं को डाटा सर्वर से समाधान निकाला गया. जो एक केंद्रीय स्तर पर डाटा संग्रहित की सुविधा देता है. 

वर्चुअल सर्वर (What is Virtual server in hindi)

वर्चुअल सर्वर की मांग और जरूरत समय के साथ बढती ही जा रही है. वर्चुअल सर्वर वो सर्वर होता है. जो भौतिक रुप से आपके द्वारा नही लगाया गया है. लेकिन आप कुछ भुगतान करके सर्वर की सेवाओं का उपयोग कर सकते हो.

वर्चुअल सर्वर एक समय एक से ज्यादा कंपनी या वेबसाइट को सेवाएँ देता है. और वर्चुअल सर्वर को उसी कार्य क्षमता को ध्यान में रख कर विकसित किया जाता है.

आपके वर्चुअल सर्वर में एक पासवर्ड दिया जाता है. उस पासवर्ड का उपयोग कर के आप अपने डाटा का प्रबंधन और सुरक्षा रख सकते हो. लेकिन आपको वर्चुअल सर्वर के हार्डवेयर के प्रबंधन की कोई इजाज़त नही होती है.

प्रॉक्सी सर्वर (What is Proxy server in hindi)

प्रॉक्सी सर्वर वो सर्वर है जो सर्वर और क्लाइंट के बीच में काम करता है. जब कभी आप कोई वेबसाइट इन्टरनेट पर चलाते है.  तो सर्वर को आपके आईपी एड्रेस से रिक्वेस्ट जाती है. जिससे सर्वर के पास आईपी एड्रेस की सूचना होती है.

जैसे आप अपने मोबाइल से फेसबुक खोलते हो. तो फेसबुक को आपके आईपी एड्रेस के साथ रिक्वेस्ट मिलती है. लेकिन अगर आप चाहते हो की आपकी सूचना फेसबुक को नही मिले तो ये प्रॉक्सी सर्वर से संभव है.

प्रॉक्सी सर्वर क्लाइंट और सर्वर के बीच काम करता है. जब भी कभी कोई रिक्वेस्ट क्लाइंट से आती है. वह रिक्वेस्ट सर्वर से पहले प्रॉक्सी सर्वर में जाती है. प्रॉक्सी सर्वर इस रिक्वेस्ट की आईपी एड्रेस को बदल पर एक पब्लिक आईपी (Public IP) जोड़ देता है.

जिससे सर्वर को ये ज्ञात नही हो पाता है की रिक्वेस्ट कहा से आई है. उसी प्रकार जब रेस्पोंस मिलता है. तो प्रॉक्सी सर्वर पब्लिक आईपी (public IP) को बदल कर वास्तविक आईपी एड्रेस जोड़ देता है. और वो रेस्पोंस अपने सही जगह पर पहुँच जाता है.

प्रॉक्सी सर्वर का उपयोग जासूसी और सुरक्षा से जुड़ी संस्थान करती है.

निगरानी और प्रबंधन वाले सर्वर (Monitoring and management Server)

निगरानी और प्रबंधन वाले सर्वर वो सर्वर होते है जो नेटवर्क और सिस्टम की निगरानी रखते है. ये सर्वर निगरानी रखते है कि क्लाइंट और सर्वर के बीच क्या बातचीत चल रही है. और अगर कुछ अपडेट है. या फिर एप्लीकेशन स्तर पर कॉन्फ़िगरेशन की जरूरत होती है जो नेटवर्क के गुणवत्ता से जुड़ा हो. ये सर्वर इसकी सूचना नेटवर्क प्रबन्धक को देता रहता है.

दोस्तों हमारी पूरी कोशिश रहती है कि हम आप तक संपूर्ण जानकारी बिल्कुल आसान भाषा में ले के आए. जिससे आपकी पढने में रूचि बनी रहे. मैं उम्मीद करता हुं आपको ये आर्टिकल सर्वर क्या होता है? (What is server in Hindi?)” पढने में मज़ा आया होगा.

दोस्तों अगर आपको ये सर्वर क्या होता है? (What is serve in Hindi?)“आर्टिकल अच्छा लगा है. तो इसे अपने उन सब दोस्तों के पास पहुँचाए जो Competition Exam की तैयारी कर रहे है. नीचे Comment लिख कर बताए. आपको किस Topic पर आसान भाषा में जानकारी चाहिए. कृपया इसको अपने दोस्तों के साथ Whatapp, Facebook या link share करे.